Stephen Hawking Biography In Hindi – स्टीफन हॉकिंग की जीवनी

नमस्कार दोस्तों आज के हमारे लेख में आपका स्वागत है , आज आपको हम Stephen Hawking Biography उन्होंने पुरे विस्व को अपनी रिसर्च के जरिये बहुत बड़ी और मूल्यवान खोजे करके देदी और अपना नाम महान वैज्ञानिको में लिखवा दिया है। 

आज इस पोस्ट में आपको stephen hawking wife का नाम क्या था ? , महान वैज्ञानिक stephen hawking education कहा से प्राप्त की थी और stephen hawking deat रीज़न क्या था जैसे कई सवालों के जवाब आज इस आर्टिकल में मिलने वाले है। कई इंसान ऐसे होते है जो अपना काम ही कुछ ऐसे अच्छे और महत्व पूर्ण हुआ करते है की उसका फायदा पुरे विश्व को मिलता है ,ऐसे ही स्टीफन हॉकिंग ने विज्ञान क्षेत्र में बहुत ही महत्ब पूर्ण योगदान दिया है। 

उनका जन्म  8 जनवरी, 1942 के दिन इंग्लैंड के कैम्ब्रिज शहर में हुआ था , उनके पिताजी का नाम फ्रेंक हॉकिंग और माता का नाम इसोबेल हॉकिंग है। उन्होंने अपने जीवन में दो शादिया रचाई थी उनकी पहली पत्नी जेन वाइल्ड और दूसरी पत्नी ऐलेन मेसन थी। अपनी बेहतरीन और महत्वपूर्ण खोज के कारन उन्होंने पुरे विश्व में अपनी एक अलग ही नामना बनाई हुई है , तो दोस्तों आपको उनकी सम्पूर्ण और रोचक जानकारी के लिए ले चलते है। 

Stephen Hawking Biography In Hindi –

  नाम

  स्टीफन विलियम हॉकिंग

  जन्म

  8 जनवरी, 1942

  जन्म स्थान

  कैम्ब्रिज, इंग्लैंड

  पिता

  फ्रेंक हॉकिंग

  माता

  इसोबेल हॉकिंग

  पत्नी

  जेन वाइल्ड(साल 1965-1995), ऐलेन मेसन(साल 1995-2016)

 

  बच्चे

  तीन

  पेशा

  ब्रह्मांड विज्ञानक, लेखक

  संपत्ति

  $20 मिलियन

  IQ लेवल

  160

  मृत्यु

  14 मार्च 2018 (76 वर्ष)

  मृत्यु स्थान

  कैम्ब्रिज, यूनाइटेड किंगडम

स्टीफन हॉकिंग का जीवन परिचय –

इस महान व्यक्ति को मशहूर साइंटिस्ट भी कहते है , स्टीफन हॉकिंग बचपन से ही वैज्ञानिक बनना चाहते थे लेकिन उनके जीवन काल दौरान उनके जीवन में बहुत सारी मुश्केलिया का सामना करना पड़ा था। फिर भी उन्होंने खराब परिस्थितियों का उन्होंने सामना किया और वह एक मशहूर साइंटिस्ट वैज्ञानिक बनने के अपने सपने को पूरा किया और विज्ञान के क्षेत्र में अपना अनगिनत योगदान दिया ,  उनके योगदान के चलते कई ऐसी चीजों के बारे में खोज की गई जिसकी कल्पना शायद ही पहले किसी ने की होगी।  

इसे भी पढ़े :-अल्बर्ट आइंस्टीन की जीवनी

स्टीफन हॉकिंग का प्रारंभिक जीवन –

मशहूर साइंटिस्ट stephan hokins का जन्म 8 जनवरी 1942 को ऑक्सफ़ोर्ड, इंग्लैंड में हुआ था। उनके पिता का नाम फ्रैंक था और उनकी माता का नाम इसोबेल था |उनकी माता एक चिकित्सा अनुसंधान संस्थान में सचिव के रूप में कार्यरत थी और उनके पिता फ्रेंक भी उसी संस्‍थान में अनुसंधानकर्ता के रूप में कार्य करते थे।

लेकिन इसके बावजूद उनकी आर्थिक स्थिति बहुत अच्‍छी नहीं रही। द्वितीय विश्‍व युद्ध प्रारम्‍भ होने पर वे लोग आजीविका के लिए ऑक्सफोर्ड आ गये, जहां पर हॉकिंग का जन्‍म हुआ। मशहूर साइंटिस्ट stephan hokins के पिता चाहते थे वे जीव विज्ञान की पढ़ाई करें। लेकिन उनको गणित में रूचि थी | स्टीफ़न हॉकिंग की रूचि इस बात से पता चलती है कि उन्‍होंने गणितीय समीकरणों को हल करने के लिए कुछ लोगों की मदद से पुराने इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के हिस्सों से एक कंप्यूटर ही बना दिया था।

स्टीफन हॉकिंग शिक्षा – Stephen Hawking Biography

stephen hawking Education स्टीफन हॉकिंग जब 8 साल के थे तब उनके परिवार वाले सेंट अल्बान में आकर वस्वाट करने लगे और वही पर ही एक स्कूल में स्टीफन का एडमिशन करवा दिया गया | अपनी स्कुल की शिक्षा पूरी करने के बाद स्टीफन ने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में एडमिशन लिया और यहां पर इन्होंने भौतिकी विषय पर अध्ययन किया. जिस समय इन्होंने इस विश्वविद्यालय में एडमिशन लिया था, उस वक्त इनकी आयु महज 17साल की थी। 

स्टीफन हॉकिंग को गणित विषय में बहुत ही एंटरस था और वो गणित विषय में अपनी पढ़ाई करना चाहते थे. लेकिन उस वक्त ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय में गणित विषय नहीं था . जिसके कारण उन्हें भौतिकी विषय को चुनना पड़ा. स्टीफन हॉकिंग ने भौतिकी विषय में प्रथम श्रेणी में डिग्री हासिल कर ली और फिर स्टीफन हॉकिंग कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से अपनी बाकि की पढ़ाई पूरी की थी | साल 1962 में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में डिपार्टमेंट ऑफ एप्लाइड मैथेमैटिक्स एंड थ्योरिटिकल फिजिकल में इन्होंने ब्रह्माण्ड विज्ञान पर अनुसंधान किया। 

स्टीफन हॉकिंग का करियर –

कैम्ब्रिज से अपनी पढ़ाई ख़त्म करने के बाद भी स्टीफन हॉकिंग ने कॉलेज को छोड़ा नहीं और इस कॉलेज के साथ जुड़े रहे थे में यहां कार्य किया. इन्होंने साल 1972 में डीएएमटीपी में बतौर एक सहायक शोधकर्ता अपनी सेवाएं दी और इसी दौरान इन्होंने अपनी पहली अकादमिक पुस्तक, ‘द लाज स्केल स्ट्रक्चर ऑफ स्पेस-टाइम’ लिखी थी। यहां पर कुछ समय तक कार्य करने के बाद साल 1974 में इन्हें रॉयल सोसायटी (फैलोशिप) में शामिल किया गया। 

जिसके बाद इन्होंने साल 1975 में डीएएमटीपी में बतौर गुरुत्वाकर्षण भौतिकी रीडर के तौर पर भी कार्य किया और साल 1977 में गुरुत्वाकर्षण भौतिकी के प्रोफेसर के रूप में भी यहां पर अपनी सेवाएं दी. वहीं इनके कार्य को देखते हुए साल 1979 में इन्हें कैम्ब्रिज में गणित के लुकासियन प्रोफेसर नियुक्त किया गया था, जो कि दुनिया में सबसे प्रसिद्ध अकादमी पद है और इस पद पर इन्होंने साल 2006 तक कार्य किया। 

इसे भी पढ़े :- सूफ़ी अम्बा प्रसाद का जीवन परिचय

स्टीफन हॉकिंग पति पत्नी –

हॉकिंग जब अपनी पहली पत्नी यानी जेन वाइल्ड से मिले थे तभी उसी साल उनको अपनी बीमारी के बारे में पता चला था | स्टीफन हॉकिंग की पत्नी जेन वाइल्ड उस मुशिबत में उनका साथ दिया और साल 1965 में इन्होंने शादी कर ली. जेन और हॉंकिग के कुल तीन बच्चे थे और इनके नाम रॉबर्ट, लुसी और तीमुथियस है। स्टीफन हॉकिंग और जेन वाइल्ड की शादी करीबन 30 वर्षा तक चली थी और फिर 1995 में जेन और हॉकिंग ने तलाक ले लिया था जब स्टीफन हॉकिंग ने जेन वाइल्ड से तलाक ले लिया था उसके बाद हॉकिंग ने ऐलेन मेसन से विवाह कर लिया था और साल 1995 में हुई ये शादी साल 2016 तक ही चली थी।

स्टीफन हॉकिंग की बीमारी –

हॉकिंग जब कैम्ब्रिज में था तब उसके शरीरी में न्यूरो-पेशी समस्याओं के लक्षण विकसित हुए थे और मोटर न्यूरॉन यह एक प्रकार का रोग होता है जिसमे जल्दी से शारीरिक गतिविधियों बंद होने लगती है। उनका बोलना-चलना बंद हो गया, और वह खुद को हिलाने में असमर्थ हो गये। एक स्तर पर, डॉक्टरों ने उन्हें तीन साल का जीवन काल दे दिया था।

माना की,रोग की प्रगति धीमा हो गई है, और उन्होंने अपने अनुसंधान और सक्रिय सार्वजनिक कार्यक्रमों को जारी रखने के लिए अपनी गंभीर विकलांगता को दूर करने में कामयाबी हासिल की है। स्टीफन हॉकिंग के दोस्तने कैम्ब्रिज में वैज्ञानिक एक कृत्रिम भाषण उपकरण बनाया और उसने उसे एक टचपैड का उपयोग करके बोलने दिया। यह प्रारंभिक सिंथेटिक भाषण ध्वनि स्टीफन हॉकिंग की ‘आवाज’ बन गई है, और परिणामस्वरूप, उन्होंने इस शुरुआती मॉडल की मूल ध्वनि को रखा है – तकनीकी प्रगति के बावजूद।

स्टीफन हॉकिंग ने नवीनतम तकनीक के बावजूद भी,यह अभी भी उसके लिए संचार करने के लिए एक समय लेने वाली प्रक्रिया हो सकती है। स्टीफन हॉकिंग ने अपनी विकलांगता के लिए व्यावहारिक दृष्टिकोण लिया है। उन्होंने कभी भी अपने रोग को अपने ऊपर हावी होने नहीं दिया। सैद्धांतिक ब्रह्माण्ड विज्ञान और क्वांटम ग्रेविटी में स्टीफन हॉकिंग के प्रमुख क्षेत्र शामिल हैं।

स्टीफन हॉकिंग का मुख्य कार्य –

अनेक उपलब्धियों में अल्बर्ट आइंस्टीन के सापेक्षता के सामान्य सिद्धांत के लिए गणितीय मॉडल विकसित किया। उन्होंने ब्रह्माण्ड, बिग बैंग और ब्लैक होल की प्रकृति पर बहुत काम किया। 1974 में, उन्होंने अपने सिद्धांत को रेखांकित किया कि ब्लैक होल ऊर्जा रिसाव करते हैं और कुछ भी नहीं दर हो जाती हैं। इसे 1974 में “हॉकिंग विकिरण” के रूप में पहचाना जाता है।

गणितज्ञों रोजर पेनरोस के साथ स्टीफन हॉकिंग दिखाया कि आइंस्टीन के सापेक्षता के सामान्य सिद्धांत का अर्थ है अंतरिक्ष और समय बिग बैंग में शुरू होगा और काला छेद में अंत होगा। अपनी पीढ़ी के सबसे उच्च भौतिकविदों में से एक होने के बावजूद, वह सामान्य भौतिकी मॉडल को आम जनता के लिए एक सामान्य समझ में अनुवाद करने में सक्षम हो गए। उनकी पुस्तकों – समय का एक संक्षिप्त इतिहास और एक संक्षिप्त में ब्रह्मांड दोनों बहुत मशहूर बन गए हैं।

230 दिनों से भी ज्यादा समय के लिए अधिग्रहण सूची में रहने वाले एक संक्षिप्त इतिहास के साथ- 10 दस मिलियन से भी ज्यादा प्रतियां चुकी हैं। अपनी पुस्तकों में, हॉकिंग हर रोज़ भाषा में वैज्ञानिक अवधारणाओं को समझने की कोशिश करता थे और ब्रह्मांड के पीछे कार्य करने के लिए एक सिंहावलोकन देते थे। सबसे अधिक और सबसे प्रसिद्ध वैज्ञानिकों में से एक बन गए क्योंकी स्टीफन हॉकिंग अपनी पीढ़ी में किसी के पास उतना नॉलेज नहीं था और इसी लिए उसको अपनी पीढ़ी के सबसे प्रसिद्ध वैज्ञानिकों में से कहा गया है। 

इसे भी पढ़े :- विजय सिंह पथिक की जीवनी हिंदी

Stephen Hawking Biography video –

स्टीफन हॉकिंग की खोज –

  1. सिंगुलैरिटी का सिद्धांत – 1970
  2. ब्लैक होल का सिद्धांत – 1971-74
  3. कॉस्मिक इन्फ्लेशन थ्योरी – 1982
  4. यूनिवर्स का वेव फ़ंक्शन पर मॉडल – 1983
  5. ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम’ उनकी प्रसिद्ध किताब 1988 में प्रकाशित हुई थी
  6. हॉकिंग की ब्रह्मांड विज्ञान पर आधारित टॉप-डाउन थ्योरी – 2006

स्टीफन हॉकिंग पुरस्कार और उपलब्धियां –

स्टीफन हॉकिंग के पास 13 मानद डिग्रियां हैं.क्योकि उनके योगदान के लिए इन्हें कई अवार्ड भी दिए गए हैं और इन्हें अभी तक दिए गए पुरस्कारों की जानकारी नीचे दी गई है-

( 1 ) 1966 में स्टीफन हॉकिंग को एडम्स पुरस्कार दिया गया था. इस पुरस्कार के बाद इन्होंने साल 1975 में एडिंगटन पदक और साल 1976 में मैक्सवेल मेडल एंड प्राइज मिला था। 

( 2 ) हेइनीमान पुरस्कार हॉकिंग को साल 1976 में दिया गया था. इस पुरस्कार को पाने के बाद इन्हें साल 1978 में एक ओर पुरस्कार से नवाजा गया था और इस पुरस्कार का नाम अल्बर्ट आइंस्टीन मेडल था। 

( 3 ) साल 1985 में हॉकिंग को आरएएस गोल्ड मेडल और साल 1987 डिराक मेडल ऑफ द इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिकल भी दिया गया था. इसके बाद सन् 1988 में इस महान वैज्ञानिक को वुल्फ पुरस्कार भी दिया गया था। 

( 4 ) प्रिंस ऑफ अस्टुरियस अवार्ड भी हॉकिंग ने साल 1989 में अपने नाम किया था. इस अवार्ड को मिलने के कुछ समय बाद इन्होंने एंड्रयू जेमेंट अवार्ड (1998), नायलोर पुरस्कार और लेक्चरशिप (1999) भी दिया गया था। 

( 5 ) साल 1999 में जो अगला पुरस्कार इन्हें मिला था उसका नाम लिलाइनफेल्ड पुरस्कार था और रॉयल सोसाइटी ऑफ आर्ट की तरफ से इसी साल इन्हें अल्बर्ट मेडल भी दिया गया था। 

( 6 ) ऊपर बताए गए अवार्ड के अलावा इन्होंने कोप्ले मेडल (2006), प्रेसिडेंटियल मेडल ऑफ फ्रीडम (2009), फंडामेंटल फिजिक्स प्राइज (2012) और बीबीवीए फाउंडेशन फ्रंटियर्स ऑफ नॉलेज अवार्ड (2015) भी दिया गया हैं। 

स्टीफन हॉकिंग पुस्तकें – Stephen Hawking Biography

उन्होंने अपने जीवन काल दौरान अनेक किताबें भी लिखी हैं और स्टीफन हॉकिंग ने सारी किताब अंतरिक्ष के विषय में ही लिखी हुए है और उसकी सम्पूर्ण जानकारी आपको दी हुए है। 

( 1 ) ‘ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम’– हॉकिंग द्वारा लिखी गई सबसे पहली किताब का नाम ‘ए ब्रीफ हिस्ट्री ऑफ टाइम’ था. ये किताब बिग बैंग और ब्लैक होल के विषय पर आधारित थी और साल 1988 में प्रकाशित हुई ये किताब 40 भाषाओं में उपलब्ध है। 

( 2 ) ‘द यूनिवर्स इन ए नटशेल’ – ये किताब साल 2001 में प्रकाशित की गई थी और हॉकिंग द्वारा लिखी गई इस किताब को साल 2002 में एवेंटिस प्राइस ऑफ साइंस बुक्स मिला था। 

( 3 ) “द ग्रैंड डिज़ाइन”- हॉकिंग द्वारा लिखी गई “द ग्रैंड डिज़ाइन” किताब साल 2010 में प्रकाशित हुई थी और इस किताब में भी अंतरिक्ष से जुड़ी जानकारी दी गई थी. ये किताब भी काफी सफल किताब साबित हुई थी। 

( 4 ) ‘ब्लैक होल और बेबी यूनिवर्स’ – ये किताब साल 1993 में आई थी और इस पुस्तक में हॉकिंग द्वारा ब्लैक होल से संबंधित लिखे गए निबंधों और व्याख्यानों का जिक्र था. इसके अलावा हॉकिंग ने बच्चों के लिए भी एक किताब लिखी थी. जिसका नाम ”जॉर्ज और द बिग बैंग” था और ये किताब साल 2011 में आई थी। 

इसे भी पढ़े :-अमिताभ बच्चन का जीवन परिचय

स्टीफन हॉकिंग के उद्धरण – Stephen Hawking quotes –

जीवन दुर्भाग्यपूर्ण होगा यदि ये अजीब और रोचक भरा ना हो तो. अगर आप हमेशा नाराज़ रहेंगे एवं कोसते ही रहेंगे तो किसी के पास आपके लिए टाइम नहीं होगा मेरे जीवन का लक्ष्य बहुत ही आसाना है और ये लक्ष्य इस ब्रह्मांड को समझना है और ये पता लगाना है कि ये ऐसा क्यों है और ये क्यों हैं. अज्ञानता दुश्मन नहीं हैं, जबकि दुश्मन वो भ्रम हैं जो ये कहे कि आपको सब कुछ आता हैं। 

Stephen Hawking Movie –

Stephen Hawking में सब को बतादे की साल 2014 में इन पर एक मूवी बनाई गई, जिसका नाम नाम “द थ्योरी ऑफ एवरीथिंग’ हैं . इस फिल्म में उनकी जिंदगी के संघर्ष को दिखाया गया था और बताया गया था कि किस तरह से इन्होंने अपने सपनों के पूरा किया था। 

स्टीफन हॉकिंग की कुल संपत्ति –

इंग्लैंड के कैम्ब्रिज शहर में स्टीफन हॉकिंग का खुद का एक घर है और इस वक्त उनके पास कुल $ 20 मिलियन की संपत्ति है. उन्होंने ये संपत्ति अपने कार्य, पुरस्कारों और किताबों के जरिए कमाई हैं। 

स्टीफन हॉकिंग की मृत्यु –

stephen hawking Death in hindi स्टीफन हॉकिंग बहुत लंबे समय से बीमार चल रहे थे. एमियोट्रोफिक लेटरल स्क्लेरोसिस बीमारी के कारण इन्होंने अपने जीवन के लगभग 53 साल व्हील चेयर पर बताए थे वहीं 14 मार्च को इस महान वैज्ञानिक ने अपनी अंतिम सांस इग्लैंड में ली है और इस दुनिया से विदाई ले ली. लेकिन वैज्ञानिक में इनके द्वारा दिए गए योगदानों को कभी भी भुला नहीं जा सकेगा। 

Stephen Hawking Biography Questions –

1 .स्टीफन हॉकिंग का पूरा नाम क्या था ?

स्टीफन हॉकिंग का पूरा नाम स्टीफन विलियम हॉकिंग

2 .स्टीफन हॉकिंग का जन्म कब हुआ?

उनका जन्म 8 जनवरी, 1942 के दिन हुआ था। 

3 .स्टीफन हॉकिंग का जन्म स्थान कौन सा है ?

स्टीफन हॉकिंग का जन्म स्थान कैम्ब्रिज, इंग्लैंड है

4 .स्टीफन हॉकिंग के पिता का नाम क्या था ?

स्टीफन हॉकिंग के पिता का नाम फ्रेंक हॉकिंग था। 

5 .स्टीफन हॉकिंग की माता का क्या नाम था ?

स्टीफन हॉकिंग की माता का नाम इसोबेल हॉकिंग था

6 .स्टीफन हॉकिंग की पत्नी का नाम क्या था ?

दो पत्नी या थी एक का नाम जेन वाइल्ड(साल 1965-1995), दूसरी का नाम ऐलेन मेसन(साल 1995-2016) था। 

7 .स्टीफन हॉकिंग को स्टीफन हॉकिंग ने किसकी खोज की?

उनकी मुख्य खोज ब्लैक होल और महाविस्फोट का सिद्धांत है। 

8 .स्टीफन हॉकिंग को कौन सी बीमारी थी?

वह मोटर न्यूरॉन नाम के रोग के रोगी थे लेकिन डॉक्टर की भविष्यवाणी को उन्होंने गलत साबित किया था। 

इसे भी पढ़े :- बाबू वीर कुंवर सिंह की जीवनी

Conclusion –

दोस्तों आशा करता हु आपको मेरा यह आर्टिकल Stephen Hawking Biography बहुत ही पसंद आया होगा इस लेख के जरिये  हमने stephen hawking biography book और what is stephen hawking famous for से सबंधीत  सम्पूर्ण जानकारी दे दी है अगर आपको इस तरह के अन्य व्यक्ति के जीवन परिचय के बारे में जानना चाहते है तो आप हमें कमेंट करके जरूर बता सकते है। और हमारे इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द ।

Leave a Reply

error: Sorry Bro
%d bloggers like this: