Abraham Lincoln Biography In Hindi – अब्राहम लिंकन का जीवन परिचय

आज के हमारे लेख में आपका स्वागत है। नमस्कार मित्रो आज हम Abraham Lincoln Biography In Hind,में अमेरिका के 16 वें राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन का जीवन परिचय देने वाले है। 

उन्होंने अपने शाशन कल में अमेरिका में दास प्रथा (गुलामी प्रथा) का अंत किया था। उनका जन्म एक गरीब अश्वेत परिवार में हुवा था। संयुक्त राज्य अमेरिका में गृह युद्ध के दौरान देश का नेतृत्व किया। आज हम abraham lincoln assassingtion,abraham lincoln speech और abraham lincoln democracy से जुडी रोचक जानकारी बताने वाले है। अब्राहम लिंकन राष्ट्रपति कैसे बने तो आपको बतादे की अब्राहम लिंकन कितने चुनाव हारे तब जाके उनको सफलता प्राप्त हुई थी।  

उन्होंने दास प्रथा का अंत किया, सरकार और अर्थव्यवस्था को मजबूत किया। अब्राहम लिंकन के विचार इतने महान थे की सदैव सत्य और अच्छाई का पक्ष लेते थे। उन्होंने वकील के पेशे में हमेशा न्याय का साथ दिया था। अन्याय का पक्ष उन्होंने कभी नही लिया। उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गयी। तो चलिए आपको ले चलते है। abraham lincoln life story की सम्पूर्ण माहिती के लिए। 

Abraham Lincoln Biography In Hindi –

पूरा नाम अब्राहम थॉमस लिंकन
जन्म 12 फ़रवरी 1809
जन्म स्थान होड्जेंविल्ले  केंटुकी (अमेरिका)
माता नेन्सी
पिता थॉमस लिंकन
abraham lincoln wife मैरी टॉड
abraham sons रोबर्ट, एडवर्ड, विल्ली और टेड
पेशा

वकील,राजनेता 

राष्ट्रीयता अमेरिकन
मृत्यु 15 अप्रैल 1865

अब्राहम लिंकन का जीवन परिचय – 

12 फरवरी 1809 को होड्जेविल्ले, केंटकी में अब्राहम लिंकन का जन्म हुआ था। वो एक गरीब परिवार में जन्मे थे। abraham lincoln education घर पर ही हुआ था । अब्राहम लिंकन इलिनॉय में वकालत करने लगे। उनके पिता का नाम थॉमस और उनकी माता का नाम नैंसी हैंक्स लिंकन था। लिंकन की छोटी बहन का नाम सारा था और छोटे भाई का नाम थॉमस था। अब्राहम लिंकन के पिता को पैसों के लिए बहुत संघर्ष करना पड़ता था।

इसकेबारे में भी जानिए :- चंद्रशेखर आजाद का जीवन परिचय

अब्राहम लिंकन का बचपन – 

अब्राहम लिंकन जब 9 साल उम्र में उनकी मां का देहांत हो गया था। लिंकन की मां के गुजरने के बाद उनके पिता ने फिर से विवाह कर लिया। सौतेली मां ने लिंकन को अपने बेटे की तरह प्यार दिया और उनका मार्गदर्शन किया। बचपन से ही अब्राहम को पढ़ने लिखने का बहुत शौक था। उनको किताबें पढ़ना बहुत प्रिय था। किताबों के लिए वह मीलों दूर तक पैदल ही चले जाते थे। “द लाइफ ऑफ जॉर्ज वाशिंगटन” उनकी प्रिय पुस्तक थी।

abraham lincoln age 21  हो जाने के बाद बहुत तरह के काम किए। उन्होंने दुकानदार, पोस्ट मास्टर, सर्वेक्षक जैसी बहुत सी नौकरियां की। जीविका के लिए वह कुल्हाड़ी से लकड़ी काटने का काम करने लगे। उन्होंने सुअर काटने से लेकर लकड़हारे तक का काम किया, और खेतों में मजदूरी भी की।

अब्राहम लिंकन का विवाह – Abraham Lincoln Biography

abraham lincoln biography – 1843 में अब्राहम लिंकन ने मैरी टॉड नामक लड़की से विवाह कर लिया। सभी लोग मेरी टॉड को एक महत्वकांक्षी नकचढ़ी घमंडी लड़की समझते थे। मैरी के बारे में यह बात बहुत प्रसिद्ध थी कि वह हमेशा कहती थी कि वह उस पुरुष से विवाह करेगी जो अमेरिका का राष्ट्रपति बनेगा। इस बात के लिए सभी लोग उसका बहुत मजाक उड़ाते थे। लिंकन की पत्नी ने 4 बच्चों को जन्म दिया पर उनमें से सिर्फ एक रॉबर्ट टॉड ही जीवित बचा। सब लोग ऐसी बातें करते हैं कि लिंकन की पत्नी उनसे बात-बात पर झगड़ा करती थी और उनको बिल्कुल भी सम्मान नहीं देती थी

अब्राहम लिंकन की वकालत – Abraham Lincoln Biography

राष्ट्रपति बनने से पहले अब्राहम लिंकन ने 20 सालों तक वकालत की, पर इस दौरान उन्होंने सदैव सत्य और न्याय का ही साथ दिया। उन्होंने महात्मा गांधी की तरह कभी भी झूठे मुकदमे नहीं लिए। सदा सत्य और न्याय से जुड़े मुकदमे ही लिए। अब्राहम लिंकन ने वकालत से कभी बहुत ज्यादा पैसा नहीं कमाया क्योंकि वह गरीब व्यक्तियों से बहुत कम पैसा लेते थे। बहुत से मुकदमों का निपटारा वह न्यायालय से बाहर ही कर देते थे जिसमें उनको ना के बराबर फीस मिलती थी।

वो अपने मुवक्किलों को कोर्ट के बाहर ही सुलह करने की सलाह देते थे जिससे समय और धन की बर्बादी ना हो। एक बार उनके एक मुवक्किल ने उनको $25 फीस दी, पर लिंकन ने सिर्फ $15 लिए और $10 वापस कर दिए। लिंकन ने कहा कि उनकी फीस सिर्फ $15 ही बनती है। उनकी ईमानदारी और सच्चाई की बहुत ही कहानियां है। लिंकन ने कभी भी झूठे मुकदमों को नहीं लड़ा। हमेशा सच का साथ दिया। वह कभी भी धन के लोभी नहीं रहे।

यही वजह थी कि वह वकालत के समय बहुत कम पैसा ही कमा पाते थे। वह किसी भी धर्म का पक्ष नहीं लेते थे। वह कहते थे कि जब मैं अच्छा काम करता हूं तो अच्छा अनुभव करता हूं और जब बुरा काम करता हूं तो बुरा अनुभव करता हूं। यही मेरा धर्म है।

इसकेबारे में भी जानिए :- शाहजहाँ का जीवन परिचय

राष्ट्रपति के रूप में अब्राहम लिंकन –

अब्राहम लिंकन न्यू रिपब्लिकन पार्टी के सदस्य थे। रिपब्लिकन पार्टी दास प्रथा को खत्म करना चाहती थी। उनका विचार था कि मनुष्य को दास बनाकर खरीदना बेचना या रखना अमानवीय कार्य है। दास प्रथा को लेकर पूरा अमेरिका देश बंटा हुआ था। आधे लोग चाहते थे कि दास प्रथा खत्म हो जाए जबकि आधे लोग चाहते थे कि यह जारी रहे। दक्षिण अमेरिका के गोरे निवासी चाहते थे।

कि गुलाम (अश्वेत) उनके खेतों में मजदूरों की तरह काम करें। गोरे अश्वेत नागरिकों को अपना गुलाम बनाना चाहते थे। 1860 में अब्राहम लिंकन को अमेरिका के 16 राष्ट्रपति के रूप में चुना गया।तब अब्राहम लिंकन का संघर्ष पूर्ण हो पाया था। अब्राहम लिंकन का पत्र की बात करे तो उन्होंने शिक्षक को पत्र लिखा की ,मैं जानता हूँ कि इस दुनिया में सारे लोग अच्छे और सच्चे नहीं हैं। 

अब्राहम लिंकन के कुछ रौचक बाते – 

  •  टेलीग्राफ का उपयोग करने वाले लिंकन पहले राष्ट्रपति थे।
  •  लिंकन की माँ को जहर वाले दूध से मारा गया था।
  • अब्राहम लिंकन अमेरिकी सीनेट के लिए दो बार भाग दोनों वक्त हार गए।
  • 1876 में लिंकन के शरीर को ग्रेव लुटेरों ने चुराने की कोशिश करी थी। 
  • वह पहले दाढ़ी वाले अमेरिकी राष्ट्रपति थे, पहले एक पेटेंट धारण करते थे। 
  •  4 नवंबर 1842 को लेक्सिंगटन केंटकी के मैरी टॉड से शादी की। उनके कई सौतेले भाइयों की मृत्यु गृहयुद्ध के दौरान हो गई।
  •  राष्ट्रपति बराक ओबामा लिंकन का बहुत सम्मान करते थे। राष्ट्रपति पद की शपत लेने से पहले उस स्थान पर गए  जहासे उन्होंने शुरूआत करी थी। 
  • अब्राहम लिंकन को अपनी मृत्यु के 3 दिन पहले सपना आ गया था कि उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई है यह बात उन्होंने अपने पत्नी मैरि को कही थी। 
  • उन्हें एक प्रतिभाशाली कथाकार के रूप में जाना जाता था और चुटकुले सुनाना पसंद था।
  • 1865 में मेरिका के 16वें राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन को वॉशिंगटन के ‘फोर्ड थियटर’ में गोली मार दी गई , जब वो ‘अवर अमेरिकन कज़िन’ नाटक देख रहे थे। गोली मारने वाला जॉन वाइक्स बूथ पेशेवर नाट्यकर्मी था।
  • लिंकन को गोली मारने वाले जॉन वाइक्स बूथ को दस दिन बाद वर्जीनिया के एक फार्म से पकड़ा गया था। 
  • 1865 में अपनी हत्या से कुछ घंटे पहले ही उन्होंने सीक्रेट सर्विसेज का गठन किया था। 

अब्राहम लिंकन का पुस्तक प्रेम – Abraham Lincoln Biography

लिंकन अमेरिका के प्रथम राष्ट्रपति जार्ज वाशिंगटन के जीवन से बहुत प्रभावित थे। एक समय उन्हें पता चला कि एक पड़ोसी के पास जार्ज वाशिंगटन का जीवन चरित है। वे उषा से नाच उठे, पर मन में डर आया कि पड़ोसी पुस्तक देगा या नहीं। पड़ोसी ने पुस्तक दे दी। अब्राहम ने शीघ्र ही लौटा देने का वादा किया। अब्राहम लिंकन ने पुस्तक अभी समाप्त ही नहीं की थी कि एक दिन अचानक बड़ी जोर से बारिश हुई। अब्राहम लिंकन झोपड़ी में रहते थे; पुस्तक बारिश के कारन से भीगकर ख़राब हो गई। अब्राहम के मन में बड़ा दुख हुआ, परन्तु वे निराश नहीं हुए। मुझसे एक बड़ा अपराध हो गया है।

सोलह साल की अवस्था वाले असहाय बालक अब्राहम की बात से पड़ोसी आश्चर्यचकित हो गया। वह बालक की सरलता और निष्कपटता से बहुत प्रसन्न हुआ। अब्राहम ने कहा कि मैं पुस्तक लौटा नहीं सकूंगा। यध्यपि वह जल से भीगकर ख़राब हो गई है, तो भी मैं आपको नई पुस्तक दूंगा। तुम नई पुस्तक किस तरह दे सकोगे? घर पर तो पैसे का ठिकाना नहीं है और बात ऐसी करते हो? पडोसी ने झिड़की दी। मुझे अपने श्रम पर विश्वास है। मैं आपके खेत में मजदूरी कर पुस्तक के दुगुने दाम का काम कर दूंगा।

इसकेबारे में भी जानिए :- स्वामी दयानन्द सरस्वती की जीवनी 

लिंकन की हत्या के कुछ अनसुने राज़ –

  • दुनिया को लोकतंत्र की नई परिभाषा देने वाले अमेरिका के 16वें राष्ट्रपति अब्राहिम लिंकन की हत्या से जुड़े कई अहम पहलू अभी तक दुनिया के सामने नहीं आए हैं।
  • आपको बता दें कि 14 अप्रैल 1865 में लिंकन को वाशिंगटन के ‘फोर्ड थियटर’ में उस वक्त गोली मारी गई थी जब वो जब वो ऑवर अमेरिकन कजिन नाटक देख रहे थे।
  • लिंकन को गोली किसी और ने नहीं बल्कि एक जाने माने रंगमंच कर्मी जॉन वाइक्स बूथ ने मारी थी। दिलचस्प बात यह थी कि लिंकन को जिस वक्त गोली मारी गई थी। 
  • उस वक्त उनके निजी सुरक्षागार्ड जॉन पार्कर उनके साथ मौजूद नहीं थे। लिंकन पूरी दुनिया में अपने काम के लिए मशहूर थे। उन्होंने अमेरिका में स्लेवरी या गुलामी प्रथा को पूरी तरह से खत्म कर एक बड़ा काम किया था। 

Abraham Lincoln Death – 

15 अप्रैल 1865 में अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन डीसी में एक सिनेमाघर में अब्राहम लिंकन की गोली मारकर हत्या कर दी गई। जाने माने अभिनेता जॉन वाइक्स बूथ ने उनकी हत्या की जब वो “ऑवर अमेरिकन कजिन” नाटक देख रहे थे। दिलचस्प बात यह थी कि लिंकन को जिस वक्त गोली मारी गई थी। उस वक्त उनके निजी सुरक्षागार्ड जॉन पार्कर उनके साथ मौजूद नहीं थे। लिंकन को गोली मारने वाले जॉन वाइक्स बूथ को 10 दिन बाद वर्जीनिया के एक फार्म से पकड़ा गया। जहां अमेरिकी सैनिकों ने उन्हें एक मुठभेड़ में मार गिराया।

इसकेबारे में भी जानिए :- जोधा-अकबर कहानी

Abraham Lincoln ka Jeevan Parichay –

Abraham Lincoln Facts – 

  •  अपनी असफलताओ से कभी निराश नही हुए।
  • 21वें वर्ष में वार्ड मैंबर का चुनाव हारे 22वें वर्ष में शादी में असफल हुए। 
  •  27वें में पत्नी ने तलाक दिया, 32वें में सांसद चुनाव का चुनाव हार गए।
  • 37वें, 42वें और 47वें वर्ष में भी चुनाव हारे पर 52 वर्ष की आयु में अमेरिका के राष्ट्रपति बन गए।
  •  51 वर्ष की उम्र में अमेरिका के 16th सबसे लम्बी अवधिकाल के लिए राष्ट्रपति बने
  • उन्हें पालतू बिल्ली “टैबी ” से बेहद प्यार था। 
  • थैंक्सगिविंग डे को राष्ट्रीय पर्व के रूप में अब्राहम लिंकन के दुबारा ही मनाया गया था
  • अब्राहम ने 22 वर्ष की उम्र में जीवन के पहले बिज़नेस की शुरुवात की परन्तु वे इसमें असफल रहे
  •  24 वर्ष  में दोबारा नया बिज़नेस शुरू किया लेकिन दुर्भाग्यवश ये बिजनेस भी नहीं चल सका था। 
  • राष्ट्रपति के टिकट के लिए अपनी बोली में हार गए। लिंकन 1856 में रिपब्लिकन सम्मेलन में एक असफल उपाध्यक्ष थे।

इसकेबारे में भी जानिए :- खुदीराम बोस बायोग्राफी

Abraham Lincoln Biography Questions –

1 .abraaham linkan kaun the ? 

अब्राहम लिंकन अमेरिका के सोलहवें राष्ट्रपति और दास प्रथा को खत्म करने वाले व्यक्ति थे। 

2 .abraaham linkan ko bachapan se hee kya padhane ka shauk tha ?

अब्राहम लिंकन को बचपन से ही पढ़ने लिखने का बहुत शौक था। 

3 .abraaham linkan ko kya padhane ka shauk tha ?

अब्राहम लिंकन को किताबें पढ़ना बहुत प्रिय था।

4 .abraaham linkan ko kis desh ka raashtrapati chuna gaya ?

अब्राहम लिंकन को अमेरिका देश का राष्ट्रपति चुना गया था। 

5 .abraaham linkan amerika ke raashtrapati kab bane ? 

06 नवंबर 1860 के दिन अब्राहम लिंकन अमेरिका के राष्ट्रपति बने थे। 

6 .abraaham linkan kee saphalata ka sabase bada rahasy kya tha ?

परेशानियों का सामना करना और संकल्प ही अब्राहम लिंकन की सफलता का सबसे बड़ा रहस्य था

7 .abraaham linkan amerika ke raashtrapati kaise bane ?

Senate के चुनाव जितके अब्राहम लिंकन अमेरिका के राष्ट्रपति बने थे। 

8 .abraaham linkan amerika ke raashtrapati kab bane ?

06 नवंबर 1860 के दिन अब्राहम लिंकन अमेरिका के राष्ट्रपति बने थे।

Conclusion –

आपको the story of abraham बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। लेख के जरिये  हमने when was abraham lincoln born और abraham meaning से सबंधीत  सम्पूर्ण जानकारी दी है। अगर आपको अन्य व्यक्ति के जीवन परिचय के बारे में जानना चाहते है। तो कमेंट करके जरूर बता सकते है। हमारे आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। जय हिन्द।

4 thoughts on “Abraham Lincoln Biography In Hindi – अब्राहम लिंकन का जीवन परिचय”

  1. Pingback: Chandrashekhar Azad Biography In Hindi - Thebiohindi

  2. Pingback: Shah Jahan Biography In Hindi 2020 - Thebiohindi

  3. Pingback: Biography of Khudiram bose In Hindi - Thebiohindi

  4. Pingback: jodha akbar story in Hindi - जोधा-अकबर की कहानी कहानी हिंदी में

Leave a Reply

error: Sorry Bro
%d bloggers like this: