Jijabai Biography In Hindi | राजमाता जीजाबाई का इतिहास और जीवन परिचय

नमस्कार दोस्तों Jijabai Biography In Hindi में आपका स्वागत है। आज हम छत्रपति शिवाजी महाराज की माँ यानि राजमाता जीजाबाई का इतिहास और जीवन परिचय बताने वाले है। हमारा भारत वीर देश भक्त और महान राजा महाराजा ओ की जन्म भूमि है। वैसे ही आज हम एक ऐसी माता की जानकारी बताने वाले है। जिस जननी ने एक ऐसे शूरवीर को जन्म दिया है। जिन्होंने मराठा साम्राज्य की स्थापना की और भारत में हिन्दू साम्राज्य को अपने बलबुते पर मुग़ल बादशाह दे बचाया था। 

शिवाजी जैसे शूरवीर को जन्म देने वाली जननी जीजाबाई के जीवन में अनेक पड़ाव देखे उसके कारन उन्होंने शिवाजी महाराज को उतना शौर्यवान बनाया था। की सिर्फ 17 साल की उम्र में ही उन्होंने बड़ी-बड़ी जंग खेलना शुरू कर दिया था। राजमाता जीजाबाई ने अपने पुत्र शिवाजी महाराज को प्राचीन भारत के महान इतिहास, रामायण और महाभारत जैसे ग्रंथों का ज्ञान दिया था। जीजाबाई को मराठा साम्राज्य की राजमाता तथा जीजाऊ भी कहा जाता है। 

Jijabai Biography In Hindi

पूरा नाम – जीजाबाई भोंसले 

अन्य नाम – जीजाई, जीजाऊ

जन्म – 12 जनवरी, 1598 ई. 

जन्म स्थल – बुलढ़ाणा ज़िला, महाराष्ट्र, भारत 

मृत्यु तिथि – 17 जून, 1674 ई

मृत्यु स्थान – पछाड़ नाम के स्थान पर

पिता – लखोजीराव जाधव 

माता – महालसा बाई

पति – शाहजी भोंसले 

संतान – 6 पुत्री व 2 पुत्र

पुत्र – छत्रपति शिवाजी महाराज

पौत्र – संभाजी राजे

जाति – जाधव

आंदोलन – मराठा आंदोलन के जनक।

जीजाबाई जयंती – 12 जनवरी के दिन जिजाऊ जयंती

जीजाबाई की पुण्यतिथि – प्रतिवर्ष 17 जून 

उपाधि – शिवाजी महाराज की माँ, राजमाता

योगदान – मराठा साम्राज्य की स्थापना 

कुलदेवी – भवानी माँ

Jijabai Birth and Education

जीजाबाई यानि जिजाऊ का जन्म 12 जनवरी 1598 ई. को महाराष्ट्र के बुलढाणा में हुआ था। जन्म के समय जीजाबाई का नाम जिजाऊ रखा था। उसके पिताजी का नाम लखोजीराव जाधव था। वह निजाम शाही सुल्तान के दरबार में एक जागीरदार हुआ करते थे। और लखोजीराव जाधव सिंदखेड नामक छोटे से गाव के राजा हुआ करते थे। उनकी माता का नाम महालसाबाई जाधव था। जीजाबाई जाधव परिवार में जन्मी और हिंदू धर्म का पालन करते थे। रीति-रिवाजों के मुताबिक उनका विवाह छोटी उम्र में ही शाहजी भोंसले के साथ कर दिया था।

राजमाता जीजाबाई का जीवन परिचय
राजमाता जीजाबाई का जीवन परिचय

Jijabai Family

जीजाबाई भारत के महाराजा वीर छत्रपति शिवाजी की माता थी। जीजाबाई एव शाहजी भोंसले के संभाजी भोसले और छत्रपति शिवाजी भोसले नाम के दो पुत्र थे। संभाजी भोसले का जन्म 1630 में हुआ था। जब की शिवाजी भोंसले का जन्म 1633 ईस्वी को हुआ था। उसका परिवार लालमहल में रहता था। उसके पति शाहजी भोंसले बीजापुर के राजा आदिलशाह के दरबार में जागीरदार थे। उसके ससुर का नाम दादा कोंडदेव था। शिवाजी महाराज की साईंबाई, सोयरा बाई और पुतलाबाई नाम की तीन पत्निया थी।

राजमाता जीजाबाई फोटो
राजमाता जीजाबाई फोटो

जीजाबाई ने शिवनेरी किले में दिया शिवाजी को जन्म

महाराज शाहजी ने बच्चों और अपनी पत्नी जीजाबाई की रक्षा के लिए उस सभी को शिवनेरी किले में रखा था। क्योंकि उस समय में शाहजी राजे के कई शत्रु हुआ करते थे। जीजाबाई ने उस पवित्र शिवनेरी के दुर्ग में शिवाजी को जन्म दिया था। आपको बतादे की शिवाजी महाराज के जन्म के समय उसके पिता श्री शाहजी जीजाबाई के पास नहीं थे। शिवाजी के जन्म के पश्यात शाहजी को मुस्तफाखाँ ने बंदी बना दिया था। तक़रीबन 12 साल के समय के बाद शाहजी और शिवाजी की भेंट हुई थी।

Jijabai Images
Jijabai Images

Jijabai की शाहजी की मृत्यु पर सती होने की कोशिश 

आपको बतादे की शाहजी सभी कार्यों में अपनी पत्नी जीजाबाई की सहाय लेते थे। उसके बड़े बेटे संभाजी और शाहजी महराज को अफजलखान ने युद्ध में मार दिया था।  पति देव की मृत्यु के बाद जीजाबाई सती होने की कोशिश की थी। मगर छत्रपति शिवाजी ने अपनी माता को रोक दिया था। क्योकि शिवाजी राजमाता को अपना मित्र, मार्गदर्शक और प्रेरणास्त्रोत मानते थे। उसके कारन शिवाजी बहुत छोटी उम्र में अपने कर्तव्यों को समझ सके और माता के मार्गदिशा से हिन्दू साम्राज्य को स्थापित किया था। 

हिंदू स्वराज्य की स्थापना और मराठा साम्राज्य का विस्तार

जीजाबाई चतुर होने के साथ-साथ बहुत ही बुद्धिमान माता थी। शाहजी भोंसले मराठा साम्राज्य का विस्तार करना चाहते थे। मगर मुगल और बीजापुर के शासक आदिलशाह एक हो गए और मिलकर शाहजी भोंसले से युद्ध किया और उन्हें पराजित कर दिया था। मुगलों और आदिल शाह के साथ शाहजी राजे भोंसले से संधि हुई कि शाहजी को वह विस्तार को छोड़ देना है। उसके बाद आदिल शाह के सेनापति अफजल खान के साथ शाहजी भोंसले का युद्ध हुआ और युद्ध में शाहजी भोंसले के साथ बेटा संभाजी भोंसले को भी मार दिया था। 

जीजा बाई पति की चिता में कूदकर जान देना चाहती थी मगर शिवाजी ने कहा की वह ऐसा नहीं करें। जीजाबाई मान गई और कसम खाई की वह जीवित रहकर मराठा साम्राज्य” के साथ हिंदू स्वराज्य की स्थापना करेगी। जीजाबाई ने कठिनाइयों और विपरीत परिस्थितियों का सामना करते हुए छत्रपति शिवाजी महाराज को राजा के योग्य बनाया और हिंदू स्वराज्य की स्थापना में सफल हुए।जीजाबाई शिवाजी को प्रेरणात्मक कहानियां सुनाती थी। उसके कारन शिवाजी एक महान शासक बन सके थे।

राजमाता जिजाऊ फोटो
राजमाता जिजाऊ फोटो

राजमाता जीजाबाई की मृत्यु 

जीजाबाई अपने आप-में एक बेहद प्रभावी और बुद्धिमान महिला थी। उन्होंने अपने पवित्र हाथो से मराठा साम्राज्य को स्थापित किया था। यानि उसमे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने अपने जीवन को मराठा सम्राज्य की नींव रखने और उसको मजबूती देने के लिए बहुत ज्यादा योगदान दिया था। उस समय वह हिन्दुओ की  पुरे भारत की सच्चे अर्थों में राष्ट्रमाता और वीर नारी थी।

उन्होंने अपने कौशल और प्रतिभा से अपने पुत्र को सुरवीर बना दिया था। राजमाता का निधन शिवाजी महाराज के राज्याभिषेक के बाद 17 जून, 1674 ई. को हो गया था। उसके बाद वीर छत्रपति शिवाजी महाराज ने मराठा साम्राज्य का और भी विस्तार दिया था। आपको बतादे की वीर माता और राष्ट्रमाता के रूप में जीजाबाई की देशभक्ति और शौर्य की तारीफ की जाए उतनी कम है।

Jijabai के जीवन पर बनी फिल्म और सीरियल

  • राजमाता जिजाऊ
  • भारतवर्ष
  • बाल शिवाजी
  • छत्रपति शिवाजी महाराज
  • कल्याण खजाना
  • सिंहगढ़

Jijabai History In Hindi Video

Interesting Facts अज्ञात तथ्य

  • जीजाबाई सिंहगढ़ के किले पर मुगलों के झंडे को देखती तब उनका कलेजा दु:ख से भर जाता था। 
  • जीजाबाई ने अपने पुत्र शिवाजी को प्राचीन भारत के इतिहास, रामायण और महाभारत का ज्ञान दिया था।
  • राजमाता जीजाबाई महान मराठा शासक और योद्धा शिवाजी महाराज की माता थी। 
  • राजमाता जीजाबाई के पिता लखुजी जाधव सिंदखेड के राजा हुआ करते थे। 
  • जीजा बाई की मृत्यु के समय उनकी उम्र 76 वर्ष थी।
  • दक्षिण भारत में मराठा यानि हिंदुत्व की स्थापना में जीजाबाई का योगदान दिया था। 
  • जीजाबाई ने महिलाओं की रक्षा एंव मान-सम्मान को बचाने की बाते अपने बेटों को सिखाई थी। 
  • जीजाबाई को बचपन में जीजाऊ नाम से पुकारा जाता था।

FAQ

Q .जीजाबाई कौन थी?

राजमाता जीजाबाई छत्रपति शिवाजी महाराज की माँ और शाहजी भोंसले की पत्नी थी। 

Q .शिवाजी महाराज की माता का क्या नाम था?

राजमाता जीजाबाई।

Q .जीजाबाई का जन्म कब हुआ था?

जीजाबाई का जन्म 12 जनवरी 1598 को जिजाऊ महल, शिंदखेड़ा राजा क्षेत्र (वर्तमान महाराष्ट्र) में हुआ था।

Q .जीजाबाई के कितने पुत्र थे?

राजमाता जीजाबाई के संभाजी और शिवाजी नाम के दो बेटे थे।

Q .शाहजी भोंसले कौन थे?

शाहजी भोंसले हिन्दू ह्रदय सम्राट छत्रपति शिवाजी महाराज के पिता थे। 

Q .जीजाबाई की मृत्यु कब हुई थी?

17 जून 1674‌ को पचाड़ (वर्तमान महाराष्ट्र) में जीजाबाई की मृत्यु हुई थी।

Conclusion

आपको मेरा Jijabai Biography In Hindi बहुत अच्छी तरह से समज आया होगा। 

लेख के जरिये हमने Jijabai husband name, Jijabai death

और Jijabai death reason से सम्बंधित जानकारी दी है।

अगर आपको अन्य अभिनेता के जीवन परिचय के बारे में जानना चाहते है। तो कमेंट करके जरूर बता सकते है।

! साइट पर आने के लिए आपका धन्यवाद !

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों को जरूर शेयर करें !

Note

आपके पास Veermata jijabai speech की कोई जानकारी हैं, या दी गयी जानकारी मैं कुछ गलत लगे तो । तो तुरंत हमें कमेंट और ईमेल मैं लिखे हम इसे अपडेट करते रहेंगे धन्यवाद 

Google Search

Jijabai mother name, Jijabai was the daughter of the great sardar, Jijabai information in english, father of jijabai, राजमाता जिजाऊ यांच्या बद्दल माहिती, जीजाबाई इतिहास, जीजाबाई के कितने बच्चे थे?, मातोश्री जिजाबाईंच्या वडिलांचे नाव काय होते?, जीजाबाई जन्म दिनांक, लेखक ने जीजाबाई को वीरमाता क्यों कहा, जिजाबाईंना कोणता विश्वास वाटू लागला, जीजामाता कौन है?, जीजाबाई का जन्म स्थान क्या है *?, वीरमाता जिजाऊ यांच्या विषयी माहिती इंटरनेटवर मिळवा व येथे लिहा., राजमाता जिजाऊ यांची समाधी कोठे आहे

इसके बारेमे भी पढ़िए :- 

छत्रपति संभाजी महाराज का जीवन परिचय

अभिनेता शक्ति कपूर का जीवन परिचय

अभिनेत्री और मॉडल एरिका फर्नांडिस जीवन परिचय

अभिनेत्री ख़ुशी मुखर्जी का जीवन परिचय

अभिनेता अंकित गुप्ता का जीवन परिचय

अभिनेत्री कांची सिंह का जीवन परिचय

भारत की ऐसी वीर और महान राजमाता जीजाबाई को हमारा शत-शत नमन!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Sorry Bro
%d bloggers like this: