Albert Einstein Biography In Hindi – अल्बर्ट आइंस्टीन की जीवनी

नमस्कार दोस्तों आज के हमारे लेख में आपका स्वागत है ,आज हम दुनिया के महान वैज्ञानिक Albert Einstein Biography की जानकारी देने वाले है। इस पूरी दुनिया में कई खोजे ऐसी हुआ करती है जो पुरे विस्व के मानव जीवन को सरल बना देती है।  

आज हम albert einstein family , albert einstein education , albert einstein nationality और albert einstein quotes से सम्बंधित सभी जानकारी इस आर्टिकल के जरिये आपको बताने वाले है। वह एक प्रसिद्ध वैज्ञानिक और थ्योरिटीकल भौतिकशास्त्री थे ,उन्होंने रिलेटिविटी की थ्योरी को विकसित किया और तो और विज्ञान के दर्शन शास्त्र को प्रभावित करने के लिए भी इनका नाम प्रसिद्ध है। विश्व में सबसे ज्यादा नाम द्रव्यमान ऊर्जा के समीकरण सूत्र E=MC square के लिए है, यह विश्व का बहुत ही प्रसिद्ध समीकरण है। 

उनकी खोज इतनी महान है की अपने जीवन काल दौरान अनेक से अविष्कार किये, और कुछ अविष्कारों के लिए आइंस्टीन का नाम इतिहास के पन्नों में छप गया था इसी कारन albert einstein nobel prize भी दिया गया था। इन्होने जिस तरह अपनी खोज का अविष्कार किया है इस सब की माहिती आज हमारे लेख में मिलने वाली है ,तो चलिए उसकी सम्पूर्ण माहिती देने के लिए आपको  है हमारे आज के विषय के लिए। 

Albert Einstein Biography In Hindi –

 नाम

 अल्बर्ट हेर्मन्न आइंस्टीन ( alberts.ac.in )

 जन्म

 14 मार्च 1879

 जन्म स्थान

 उल्म (जर्मनी)

 पिता

 हेर्मन्न आइंस्टीन

 माता

 पौलिन कोच

 पत्नी

 मरिअक (पहली पत्नी) एलिसा लोवेन्न थाल (दूसरी पत्नी)

 बच्चें

 कदमूनी मार्गेट (दत्तक पुत्री)

 

 निवास

 जर्मनी, इटली, स्विट्ज़रलैंड, ऑस्ट्रिया, बेल्जियम, यूनाइटेड किंगडम, यूनाइटेड स्टेट्स

 शिक्षा

 स्विट्ज़रलैंड, ज्यूरिच पॉलीटेक्निकल अकादमी

 नागरिकता

 जर्मनी, बेल्जियम और अमेरिका

 क्षेत्र

 भौतिकी

 जाति

 यहूदी

 सम्मान

 भौतिकी नोबेल पुरस्कार (1921), कोप्ले पदक, मैक्स पैलांक पदक, शताब्दी के महान पुरस्कार (1999)

 डॉक्टरी सलाहकार

 अल्फ्रेड क्लेनर

 शिष्य

 अनस्ट और नाथोंन रोसेन

 ख्याति

 प्रकाश उर्जा प्रभाव, द्रव्यमान उर्जा समतुल्यता और बोस आइन्स्टीन आकंड़े

 मृत्यु

 18 अप्रैल 1955

अल्बर्ट आइंस्टीन की जीवनी –

अल्बर्ट आइंस्टीन बहुत ही बुद्धिमान वैज्ञानिक थे , आधुनिक समय में भौतिकी को सरल बनाने में इनका बहुत बड़ा योगदान रहा है। Albert Einstein को सन 1921 उनके अविष्कारों के लिए नोबल पुरस्कार से संबोधित किया गया है Albert Einstein ने बहुत ही हार्ड मेहनत कर इस नोबल पुरस्कार को प्राप्त किया था  इनको गणित में भी बहुत रूचि थी. इन्होंने भौतिकी को सरल तरीके से समझाने के लिए बहुत से अविष्कार किये जोकि लोगों के लिए प्रेरणादायक है। 

इसे भी पढ़े :- सूफ़ी अम्बा प्रसाद का जीवन परिचय

अल्बर्ट आइंस्टीन का प्रारंभिक जीवन –

अल्बर्ट आइंस्टीन का जन्म 14 मार्च सन 1879 को जर्मनी के उल्म शहर में हुआ.और उनके पिता का नाम हेर्मन्न आइंस्टीन था और उनकी प्यारी माता का नाम पौलिन कोच था Albert Einstein जर्मनी के म्युनिच शहर में बड़े हुए थे और इनकी शिक्षा भी वही से चालू हुए थी अल्बर्ट आइंस्टीन बचपन में पढ़ाई में बहुत ही कमजोर थे और उनके कुछ अध्यापकों ने उन्हें मानसिक रूप से विकलांग कहना शुरू कर दिया।

Albert Einstein जब 9 साल के हुए तो भी वह बोलना नही जानते थे. और तो और अल्बर्ट आइंस्टीन प्रक्रति के नियमों, आश्चर्य की वेदना का अनुभव और कंपास की सुई की दिशा आदि में मंत्रमुग्ध रहते थे उन्होंने 6 साल की उम्र में सारंगी बजाना शुरू किया और अपनी पूरी जिन्दगी में इसे बजाना जारी रखा। 

अल्बर्ट आइंस्टीन की शिक्षा –

12 साल की उम्र में इन्होंने ज्यामिति की खोज की एवं उसका सजग और कुछ प्रमाण भी निकाला. 16 साल की उम्र में, वे गणित के कठिन से कठिन हल को बड़ी आसानी से कर लेते थे. Albert Einstein ने 16 साल की उम्र में अपनी सेकेंडरी की पढ़ाई को पूरा किया था अल्बर्ट आइंस्टीन को स्कुल बिलकुल पसंद नहीं था और फिर उन्होंने किसीको बताये बिना विश्वविद्यालय में जाने के अवसर को ढूंढने की योजना बनाने लगे. और उनके शिक्षक ने उन्हें वहाँ से हटा दिया, क्युकि उनका बर्ताव अच्छा नहीं था। 

जिसकी वजह से उनके सहपाठी प्रभावित हुए थे | Albert Einstein की बहुत ही इच्छा थी की वो स्विट्ज़रलैंड के ज्यूरिच में ‘फ़ेडरल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी में उनको प्रवेश मिले। लेकिन Albert Einstein वहाँ के ऐडमिशन की एग्जाम में फेल हुए . फिर उनके प्राध्यापक ने सलाह दी कि Albert Einstein को सबसे पहले स्विट्ज़रलैंड के आरौ में ‘कैनटोनल स्कूल’ में डिप्लोमा पूरा करना चाहिए और फिर सन 1896 में फ़ेडरल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी में उनको ऐडमिशन मिल जायेगा उन्होंने प्राध्यापक की सलाह को समझा, वे यहाँ जाने के लिए बहुत ज्यादा इक्छुक थे और वे भौतिकी और गणित में अच्छे थे। 

Albert Einstein ने अपने ग्रेजुएशन की परीक्षा फ़ेडरल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से सन 1900 में पास की थी लेकिन अल्बर्ट आइंस्टीन के एक शिक्षक उनके बिलकुल खिलाफ थे, उनका कहना था की आइंस्टीन युसूअल युनिवर्सिटी असिस्टेंटशिप के लिए योग्य नही है. सन 1902 में उन्होंने स्विट्ज़रलैंड के बर्न में पेटेंट ऑफिस में एक इंस्पेक्टर को रखा। 

आइंस्टीन के विवाह –

अल्बर्ट आइंस्टीन अपनी शिक्षा को ख़त्म करने के बाद करीबन 6 महीने बाद मरिअक से शादी कर ली जोकि उनकी ज्युरिच में सहपाठी थी. Albert Einstein की शादी के कुछ साल बाद उनकी पत्नी मरिअक ने दो बेटे को जन्म दिया था उनके 2 बेटे हुए, तब वे बर्न में ही थे और उनकी उम्र 26 साल थी. उस समय उन्होंने डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की और अपना पहला क्रांतिकारी विज्ञान सम्बन्धी दस्तावेज लिखा। 

आइन्स्टीन का वैज्ञानिक समय और कार्य –

अल्बर्ट आइन्स्टीन ने अपने जीवनकाल दौरान अनेक किताबे लिखि है और तो और उन्होंने कई सारे पत्रों को भी प्रकाशित किया हुवा है। अल्बर्ट आइन्स्टीन ने 300 भी ज्यादा अधिक वैज्ञानिक और गैर वैज्ञानिक शोध पत्रों को प्रकाशित किया हुवा है अल्बर्ट आइन्स्टीन अपने खुद के काम के साथ साथ दुसरे वैज्ञानिकों के भी साथ सहकार देते थे जिनमे बोस आइन्स्टीन के आकड़े आइन्स्टीन रेफ्रीजरेटर और अन्य कई शामिल हैं। 

इसे भी पढ़े :- विजय सिंह पथिक की जीवनी हिंदी

अल्बर्ट आइंस्टीन का करियर और उनकी खोज –

albert einstein biography में आपको बतादे की वह बहुत सारे विज्ञानं दस्तावेज लिखे थे और अपनी डाक्टरेट लेने के बाद उन्होंने लिखे हुवे विज्ञानं दस्तावेज की वजह से वो बहुत ही प्रसिद्ध हुए। अल्बर्ट आइंस्टीन ने नोकरी करने के लिए यूनिवर्सिटी में कड़ी मेहनत की थी और वो उसमे सफल हो गए और उनको सन 1909 में ये बर्न यूनिवर्सिटी के लेक्चरर बन गये।

कुछ दिनों के बाद और दो 2 नई यूनिवर्सिटी में प्राचार्य के रूप में अपनी प्रतिभा निभाए थी और तो और उनसे बहुत ही प्रभावित होकर उनको कुछ ही दिनों में फेडरल इंस्टिटयूट ऑफ़ टेक्नोलोजी में प्राचार्य नियक्त किया गया था। सन 1913 में मैक्स प्लांक और वाल्थेर नेंस्र्ट के द्वारा दिए गए अवसर पर आइंस्टीन बर्लिन चले गए। जिसकी वजह से इनका तलाक हो गया। बर्लिन जाने के बाद इन्होने एलसा नाम के लड़की से शादी कर ली। 

albert einstein wikipedia –

उसके बारे में जानना चाहते हो तो उसका एक alberteinstein wikipedia पेज हे आप उसके पेज पर विजिट कर सकते हो | विजिट के लिए निचे लिंक हे उसपर क्लिक करके जा। 

अल्बर्ट आइंस्टीन के एकीकरण –

Albert Einstein ने अपने जीवन में बहुत से अविष्कार किये है जिनकी वजह से वो पूरे विश्व में प्रसिद्ध हुए। उनके कुछ खोज इस प्रकार है E= mc2 = Albert Einstein के द्वारा प्रमाणित द्रव्मान और ऊर्जा का ये समीकरण है जिसको आज नयूक्लेअर ऊर्जा के नाम से जाना जाता है।

प्रकाश की क्वांटम थ्योरी – आइंस्टीन की प्रकाश की क्वांटम थ्योरी में उन्होंने ऊर्जा की छोटी थैली की रचना की जिसे फोटोन कहा जाता है, जिनमें तरंग जैसी विशेषता होती है. bharat ka einstein kaha jata hai उनकी इस थ्योरी में उन्होंने कुछ धातुओं से इलेक्ट्रॉन्स के उत्सर्जन को समझाया. उन्होंने फोटो इलेक्ट्रिक इफ़ेक्ट की रचना की. इस थ्योरी के बाद उन्होंने टेलेविज़न का अविष्कार किया जोकि द्रश्य को शिल्पविज्ञान के माध्यम से दर्शाया जाता है. आधुनिक समय में बहुत से ऐसे उपकरणों का अविष्कार हो चूका है.

ब्रोव्नियन मूवमेंट – यह Albert Einstein की सबसे बड़ी और सबसे अच्छी ख़ोज कहा जा सकता है, जहाँ उन्होंने परमाणु के निलंबन में जिगज़ैग मूवमेंट का अवलोकन किया, जोकि अणु और परमाणुओं के अस्तित्व के प्रमाण में सहायक है. हम सभी जानते है कि आज के समय में विज्ञान की अधिकतर सभी ब्रांच में मुख्य है. स्पेशल थ्योरी ऑफ़ रिलेटिविटी – Albert Einstein की इस थ्योरी में समय और गति के सम्बन्ध को समझाया है. ब्रम्हांड में प्रकाश की गति को निरंतर और प्रक्रति के नियम के अनुसार बताया है। 

जनरल थ्योरी ऑफ़ रिलेटिविटी –

Albert Einstein ने प्रस्तावित किया कि गुरुत्वाकर्षण स्पेस – टाइम कोंटीनूम में कर्व क्षेत्र है, जोकि द्रव्यमान के होने को बताता है. मन्हात्तम प्रोजेक्ट – Albert Einstein ने मन्हात्तम प्रोजेक्ट बनाया, यह एक अनुसंधान है, जोकि यूनाइटेड स्टेट्स का समर्थन करता है, उन्होंने सन 1945 में एटॉमिक बम को प्रस्तावित किया. उसके बाद उन्होंने विश्व युद्ध के दौरान जापान में एटॉमिक बम का विनाश करना सिखा.

आइंस्टीन का रेफ्रीजरेटर –

यह Albert Einstein का सबसे छोटा अविष्कार था, जिसके लिए वे प्रसिद्ध हुए. आइंस्टीन ने एक ऐसे रेफ्रीजरेटर का अविष्कार किया जिसमे अमोनिया, पानी, और ब्युटेन और ज्यादा से ज्यादा ऊर्जा का उपयोग हो सके. उन्होंने इसमें बहुत सी विशेषताओं को ध्यान में रखकर यह रेफ्रीजरेटर का अविष्कार किया. आसमान नीला होता है – यह एक बहुत ही आसान सा प्रमाण है कि आसमान नीला क्यों होता है किन्तु Albert Einstein ने इस पर भी बहुत सी दलीलें पेश की थी। 

इसे भी पढ़े :- अमिताभ बच्चन का जीवन परिचय

Albert Einstein brain – Albert Einstein Biography

स्पेशल थ्योरी ऑफ़ रिलेटिविटी –

आइंस्टीन ने एक थ्योरी में गति और समय के सम्बन्ध को समझाया है।

आइंस्टीन की प्रकाश की क्वांटम थ्योरी –

albert einstein biography के जरिये आपको कह दे की उन्होने प्रकाश की क्वांटम थ्योरी में उन्होंने ऊर्जा की छोटी थैली को फोटान कहा है और तंरंगों की विशेषता बताई है। इनके अनुसार धातुओ में से इलेक्ट्रान निकलते है और वो फोटो इलेक्ट्रिक इफेक्ट की रचना करते है। इसी थ्योरी के आधार पर टेलीविजन की खोज भी हुई।

अल्बर्ट आइंस्टीन के सम्मान –

  • भौतिकी का नॉबल पुरस्कार सन 1921 में दिया गया.
  • मत्तयूक्की मैडल सन 1921 में दिया गया.
  • कोपले मैडल सन 1925 में दिया गया.
  • मैक्स प्लांक मैडल सन 1929 में दिया गया.
  • शताब्दी के टाइम पर्सन का पुरस्कार सन 1999 में दिया गया.

अल्बर्ट आइंस्टीन के सुविचार –

  • जिस व्यक्ति ने कभी गलती नहीं कि उसने कभी कुछ नया करने की कोशिश नहीं की। 
  • ईश्वर के सामने हम सभी एक बराबर ही बुद्धिमान हैं और एक बराबर ही मुर्ख भी है। 
  • जिंदगी जीने के दो तरीके हैं. पहला यह हैं कि कुछ चमत्कार नहीं हैं दूसरा यह हैं कि दुनिया की हर चीज चमत्कार हैं। 
  • एक सफल व्यक्ति बनने का प्रयास मत करो बल्कि मूल्यों पर चलने वाले इंसान बनों। 
  • वक्त बहुत कम है यदि हमें कुछ करना है तो अभी से शुरुआत कर देनी चाहिए। 
  • आपको खेल के नियम सिखने चाहिए और आप किसी भी खिलाड़ी से बेहतर खेलेंगे। 
  • मुर्खता और बुद्धिमता में सिर्फ एक फर्क होता है कि बुद्धिमता की एक सीमा होती है। 

इसे भी पढ़े :- बाबू वीर कुंवर सिंह की जीवनी

Albert Einstein Death –

अल्बर्ट आइंस्टीन को जर्मनी छोड़ कर जाना पड़ा क्योकि तब वाहापर हिटलर का समय था। Albert Einstein कुछ सालो तक अमेरिका में प्रिस्टन कालेज में कार्य करते हुए 18 अप्रैल सन 1955 में इनकी मृत्यु हो गई। दुनिया के महान वैज्ञानिक जिन्होंने अपने ज्ञान से दुनिया को बहुत कुछ दिया, और उनकी खोज को कभी भी भुलाया नही जा सकता है।

Albert Einstein Facts –

  • albert einstein biography में सबको ज्ञात करदे की वह अपने आप को संशयवादी कहते थे। नास्तिक नहीं थे। 
  • अपने दिमाग में ही सारे प्रयोग का हल निकाल लेते थे। 
  • वह बचपन में पढाई में और बोलने में कमजोर हुआ करते थे.
  • अल्बर्ट आइंस्टीन की मृत्यु के बाद एक वैज्ञानिक ने उनके दिमाग को चुरा लिया था, फिर वह 20 साल तक एक जार में बंद था। 
  • उनको नॉबल पुरस्कार भी दिया गया था लेकिन उनको उसकी राशि उन्हें नही मिल पाई.थी
  • उन्हें राष्ट्रपति के पद के लिए भी चुना गया था। 
  • वह युनिवर्सिटी की ऐडमिशन की परीक्षा में फेल भी हो चुके है। 
  • उनकी याददाश बहुत कम होने के कारण, उनको किसी का नाम, और नंबर भी याद नही रहता था। 
  • इस महान इंसान की आँखे एक सुरक्षित डिब्बे में बंद करके रखी हुई है। 
  • उनके पास अपनी खुदकी गाड़ी नही थी,और इसलिए उनको गाड़ी चलाना भी नहीं आता था। 
  • अल्बर्ट का एक गुरुमंत्र था “अभ्यास ही सफलता का मूलमंत्र है। 

Albert Einstein Biography Questions –

1 .आइंस्टीन का रियल नाम क्या था ?

Albert Einstein का रियल नाम अल्बर्ट हेर्मन्न आइंस्टीन था। 

2 .आइंस्टीन का जन्म कब हुवा था ? einstein birthday

Albert Einstein का जन्म14 मार्च 1879 में हुवा था। 

3 .आइंस्टीन का जन्म स्थान कोन सा था ?

अल्बर्ट आइंस्टीन का जन्म स्थान उल्म (जर्मनी) माना जाता है। 

4 .आइंस्टीन के पिता का नाम क्या था ?

अल्बर्ट आइंस्टीन के पिता का नाम हेर्मन्न आइंस्टीन था। 

5 .आइंस्टीन की माता का नाम क्या था ?

अल्बर्ट आइंस्टीन की माता का नाम पौलिन कोच था। 

6 .आइंस्टीन की पत्नी का क्या नाम था ?

अल्बर्ट आइंस्टीन की दो पत्नी या थी , मरिअक (पहली पत्नी) , एलिसा लोवेन्न थाल (दूसरी पत्नी)

7 .अल्बर्ट आइंस्टीन के कितने संतान थे -?

albert einstein biography में आपको बतादे की उन्हें कोई भी संतान नहींथी। एक दत्तक पुत्री लिया था। 

8 .आइंस्टीन का नियम क्या है ?

उनका नियम था की “अभ्यास ही सफलता का मूलमंत्र है ” 

9 .अल्बर्ट आइंस्टीन कितने घंटे सोते थे ?

आइंस्टाइन हर रोज़ दस घंटे सोते थे। 

10 .अल्बर्ट आइंस्टीन ने किसकी खोज की?

जिन्होंने सापेक्षता के सिद्धांत और द्रव्यमान-ऊर्जा समीकरण E = mc2 की खोज के लिए जाने जाते हैं।

इसे भी पढ़े :- श्यामजी कृष्ण वर्मा की जीवनी

Conclusion –

दोस्तों उम्मीद करता हु आपको मेरा यह आर्टिकल albert einstein biography बहुत अच्छी तरह से समज आ गया होगा। इस लेख के द्वारा हमने what did albert einstein discover से सबंधीत  सम्पूर्ण जानकारी दे दी है अगर आपको इस तरह के अन्य व्यक्ति के जीवन परिचय के बारे में जानना चाहते है तो आप हमें कमेंट करके जरूर बता सकते है। और हमारे इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। धन्यवाद।

error: Sorry Bro
%d bloggers like this: