Amrish Puri Biography In Hindi – अमरीश पुरी की जीवनी

नमस्कार दोस्तों आज के हमारे आर्टिकल में आपको हम amrish puri biography की जानकारी देने वाले है। भारतीय फिल्म इंडस्ट्रीज में एक विलन की भूमिका निभाने वाले एक बेहतरीन फिल्म अभिनेता की जीवन की कहानी बताने वाले है। 

आज आपको amrish puri brother कितने थे ? amrish puri father का नाम क्या था ? और amrish puri death reason क्या था ? जैसे कई रोचक तथ्य आज की पोस्ट में मिलने वाले है। जब उनकी मृत्यु हुई तब amrish puri net worth बहुत ज्यादा थी , उन्हें हिंदी सिनेमा के महान अभिनेता मानेजाते है क्योकि अमरीश पूरी अपने हर एक किरदार को  अच्छे से निभाते थे। आप उनको किसी का भी रोल देदो वो उसे पूरी रियल लाइफ की तरह करते थे।

उस महान अभिनेता को चाहे पिता का रोल दो या फिर दोस्त का यातो फिर विलन का वो उन सभी पात्रो को इतनी बखूबी से निभाया करते है ,की दर्शक देखते ही रह जाते है , अगर गब्बर के बाद कोई खलनायक है तो वो है मोगेंबो , हिंदी सिनेमा में इस महान अभिनेता के बिना शायद विलन का पात्र अधूरी ही रह जाता दिखाई देता है। बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्रीज़ में उनके अभिनय की गयी फिल्म मे उनके होने से चार चाँद लग जाते थे। तो चलिए आपको उनकी सम्पूर्ण माहिती बताने के लिए ले चलते है। 

Amrish Puri Biography In Hindi –

 नाम 

 अमरीश पूरी ( amrish puri )

 जन्म

 22 जून, 1932

 जन्म स्थान 

 पंजाब 

 पिता 

 लाला निहाल सिंह

 माता 

 वेद कौर

 भाई 

 चमन पुरी, मदन पुरी,हरीश पुरी

 बहन 

 चंद्रकांता

 पत्नी 

 उर्मिला दिवेकर

 बेटा

 राजीव

 बेटी

 नम्रता

 

 राष्ट्रीयता

 भारतीय

 मुत्यु 

 12 जनवरी 2005

 मुत्यु के वक्त उम्र 

  72 वर्ष

 मुत्यु की वजह 

 ब्रेन ट्यूमर 

 अंतिम संस्कार स्थल

 शिवजी पार्क श्मशान घाट

अमरीश पुरी की जीवनी –

amrish puri का जन्म 22 जून 1932 को हुवा था। उनके पिता का नाम निहाल चाँद पूरी था और उनकी माता का नाम वेद कौर था ,अमरीश पूरी अपने परिवार के साथ नवांशहर, पंजाब में रहते थे। अमरीश पूरी के तीन भाई और एक बहन थी अमरीश पूरी व्यायाम के बहुत शौकीन हैं, उन्होंने कभी भी अपने दैनिक अभ्यास को नहीं छोड़ा है। अपनी दैनिक दिनचर्या में समाचार पत्रों का पढ़ना उन्हें काफी पसंद था। 

इसे भी पढ़े :- मनोहर पर्रिकर की जीवनी

 Brother and sister of Amrish Puri –

  • चमन पूरी
  • हरीश पूरी
  • मदन पूरी

 उनके बड़े भाई, चमन पुरी और मदन पुरी दोनों अभिनेता थे। 

 उनकी एक ही बहन भी थी जिसका नाम ‘चंद्रकांता’ है।

अमरीश पूरी की पढ़ाई –

बचपन की शिक्षा अमरीश पूरी ने पंजाब में प्राप्त की थी। आगे की पढ़ाई करने अमरीश पूरी शिमला गए थे उन्होंने शिमला में बी एम कॉलेज से पढ़ाई पूरी करके, उन्होंने सर्व प्रथम अभिनय की दुनिया मे कदम रखा था। अमरीश पूरी ने सबसे पहले  रंगमंच से जुड़े थे और फिर बादमे उन्हों   ने फिल्मो में काम करना चालू किया था। अमरीश पूरी को रंगमंच से बहुत ही लगाव था।  और तो और उनके हर एक नाटक को स्व.इंदिरा गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी  जैसे महान लोग उनके नाटक को देखा करते थे पद्म विभूषण रंगकर्मी अब्राहम अल्काजी से 1961 में हुई ऐतिहासिक मुलाकात ने उनके जीवन की दिशा बदल दी और वे बाद में भारतीय रंगमंच के प्रख्यात कलाकार बन गए।

अमरीश पुरी का करियर –

अभिनेता अमरीश पुरी ने लगभग 60 से अधिक लम्बे नाटक किए, जिसमें उन्होंने “आधे अधूरे” नाटक में 5 भूमिकाएं निभाईं – पति, प्रेमी, पत्नी के मालिक और दो अन्य पात्रों की। अमरीश  पूरी ने रंगमंच की दुनिया में 1960 की साल में सर्व प्रथम अभिनय करना चालू किया था। और उन्होंने सत्यदेव दुबे और कर्नाड के द्वारा लिखे गए नाटकों में प्रस्तुतिया दी थी।

अमरीश पूरी को रंगमंच पर बहुत ही अच्छी भूमिका निभाने के लिए उनको सर्व प्रथम संगीत अकादमी की तरफ से 1979 में पुरस्कार दिया गया था जो उनके अभिनय कॅरियर का पहला बड़ा पुरस्कार था। अमरीश पूरी ने किल्मी दुनिया में साल 1971 काम कारन चालू किया था  उनकी सबसे पहली फिल्म प्रेम पुजारी थी। अमरीश पूरी को हिंदी सिनेमा में स्थापित होने में थोड़ा टाइम लगा था , लेकिन फिर वो अपनी कामियाबीको हासिल करते गए। 

साल 1980 में अमरीश पूरी ने बतौर खलनायक जैसी अनेक फिलोमे अपनी छाप छोड़ी थी 1990 के दशक में उन्होंने ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे ‘घायल’ और ‘विरासत’ में अपनी सकारात्मक भूमिका के जरिए सभी का दिल जीता। अमरीश पूरी ने हिंदी के आलावा भी कई सारी हॉलीवुड फिल्मो में भी काम किया था जैसे की  कन्नड़ पंजाबी मलयालम ,तमिल ,तेलगु  जैसी अनेक फिल्मो में काम किया था। अमरेश पूरी ने अपने जीवन काल दौरान कुल 400 से ज्याद फिल्मो में अभिनय किया था। 

इसे भी पढ़े :- अल्लू अर्जुन की जीवनी

अमरीश पूरी का मोगेम्बो का यादगार किरदार –

  • शेखर कपूर  ने वर्ष 1987 में अपनी पिछली फ़िल्म ‘मासूम’ की सफलता से उत्साहित होकर बच्चों पर केन्द्रित एक और फ़िल्म बनाना तय किया थे जो ‘इनविजबल मैन’ पर आधारित थी।
  • इस किल्म में नायक के रूप में अनिल कपूर को चुना गया था जबकि कहानी की मांग को देखते हुए खलनायक के रूप में ऐसे कलाकार की मांग थी जो फ़िल्मी पर्दे पर बहुत ही बुरा लगे इस किरदार के लिए निर्देशक ने अमरीश पुरी का चुनाव किया जो फ़िल्म की सफलता के बाद सही साबित हुआ।
  • अमरीश पूरी का  इस फ़िल्म में ‘मोगेम्बो’नाम था और यह मोगेम्बो नाम इस फ़िल्म के बाद अमरीश पूरी की शान ( पहचान )बन गया।इस फ़िल्म के बाद उनकी तुलना फ़िल्म शोले में अमजद खान द्वारा निभाए गए किरदार गब्बर सिंह से की गई।
  • इस फ़िल्म में उनका संवाद मोगेम्बो खुश हुआ इतना लोकप्रिय हुआ कि सिनेदर्शक उसे शायद ही कभी भूल पाएं।भारतीय मूल के कलाकारों में अमरीश पूरी को ही विदेशी फिल्मो में काम करने का अवसर मिला था। क्योकि विदेशी फिल्मो में भारतीय मुल के कलाकारों को मौका नहीं मिलता है ,
  • लेकिन अमरीश पुरी ने ‘जुरैसिक पार्क’ जैसी ब्लाकबस्टर फ़िल्म के निर्माता स्टीवन स्पीलबर्ग की मशहूर फ़िल्म ‘इंडियाना जोंस एंड द टेंपल ऑफ़ डूम’ में खलनायक के रूप में माँ काली के भक्त का किरदार निभाया। इस किरदार ने उन्हें अंतरराष्ट्रीय पहचान दिलाई।अमरीश पूरी ने पहली फिल्म इंडियाना जोन्स थी और उसमे उन्होंने स्वयं का सिर मुंडवा लिया था।

Amrish Puri Famous films –

अमरीश पुरी के अभिनय को मशहूर करती फिल्मे  जैसे की ‘

  • निशांत
  • गांधी
  • कुली
  • नगीना
  • राम लखन
  • त्रिदेव
  • फूल और कांटे
  • विश्वात्मा
  • दामिनी
  • करण अर्जुन
  • कोयला

आदि शामिल हैं। दर्शक उनकी खलनायक वाली भूमिकाओं को देखने के लिए बेहद उत्‍साहित होते थे।

Amrish Puri Dialogues –

बॉलीवुड की फिल्मो में जब भी विलन की बाद आती हे तो सबसे पहले अमरीश पूरी का नाम लिया जाता है। और तो और अमरीश पूरी ने वजनदार  शख्सियत और उनकी दमदार आवाज़ ने कितने ही बॉलीवुड हीरोज़ को, विलेन के आगे बच्चा बना दिया। उन्होंने एक विलेन के तौर पर बॉलीवुड में एक बहुत ही लम्बा दौर जिया, जिसमें उनके सामने अमिताभ बच्चन से लेकर शाहरुख़ खान तक हीरो रहे।

डायलॉग बोलते वक़्त उनका लहजा और बड़ी-बड़ी खौफनाक आंखें थिएटर में बैठी ऑडियंस को कांपने पर मजबूर कर देती थी। अमरीश पुरी की कई सारी फिल्मो के डायलॉग्स इतने फेमस हुए है कि लोग हीरो से ज़्यादा अमरीश पूरी के विलेन अवतार को ज्यादा देख ते है । बाद में उनके कई डायलॉग सोशल मीडिया पर बहुत ही वायरल होंने लगे और उनपर खूब सारे मजेदार मीम बने। आइए आपको बताते हैं 

  •  मोगैम्बो खुश हुआ
  • आओ कभी हवेली पर
  • जवानी में अक्सर ब्रेक फ़ेल हो जाया करते हैं 
  • डोंग कभी रॉंग नहीं होता
  • जा सिमरन जा, जी ले अपनी जिंदगी
  • जब भी मैं किसी गोरी हसीना को देखता हूं, मेरे दिल में सैकड़ों काले कुत्ते दौड़ने लगते हैं… तब मैं ब्लैक डॉग व्हिस्की पीता हूं। 

इसे भी पढ़े :- सलमान खान की जीवनी

Amrish Puri Last Movie –

अमरीश पूरी की अंतिम फिल्म किसना थी और उनकी यह फिल्म किसना 2005 में उनके मुत्यु के बाद रिलीज़ हुई थी। अमरीश पूरी ने अनेक सारी  विदेशी फिल्‍मों में भी काम किया। उन्‍होंने इंटरनेशनल फिल्‍म ‘गांधी’ में ‘खान’ की भूमिका निभाई था जिसके लिए उनकी खूब तारीफ हुई थी।

Amrish Puri Death –

Death of Amrish Puri 12 जनवरी 2005 को  हुए थी। मुत्यु के समय उनकी बभी उम्र 72 वर्ष थी। अमरीश पूरी की मुत्यु का कारण ब्रेन ट्यूमर की बीमारी की वजह से  हुए थी उनके अचानक हुये इस निधन से बॉलवुड जगत के साथ-साथ पूरा देश शोक में डूब गया था। आज अमरीश पुरी इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन उनकी यादें आज भी फिल्मों के माध्यम से हमारे दिल में बसी हैं।  

Amrish Puri Life Style Video –

इसे भी पढ़े :- अमृता प्रीतम की जीवनी

Amrish Puri Interesting Facts –

  • अमरीश पुरी का जन्म पंजाब राज्य के  नवांशहर में पंजाबी फेमिली में हुआ था।
  • अभिनेता अमरीश पूरी को व्यायाम का बहुत शौकीन थे। वो हररोज़ व्यायाम करते थे। 
  • अमरीश पूरी को  दैनिक दिनचर्या में समाचार पत्र पढ़ना बहुत पसंद था। 
  • गायक के.एल सहगल अमरीश पुरी के चचेरे भाई थे।
  • अमरीश पूरी ने 40 साल की उम्र में फिल्मों में काम करने की शुरूआत की थी। 
  • अमरीश पुरी ने लगभग 60 से अधिक लम्बे नाटक किए। 
  • इंडियाना जोन्स के शूटिंग के लिए अमरीश पूरी ने स्वयं का सिर मुंडवा लिया था।
  • अमरीश पुरी ने तक़रीबन 30 सालों से भी ज़्यादा वक्त तक हिंदी फिल्मों में अभिनय किरदार निभाया था। 
  • नकारात्मक भूमिकाओं को अमरीश पूरी इतनी मस्त निभाते थे कि हिंदी फिल्मों में ‘बुरे आदमी’ का पर्याय बन गए थे। 
  • अमरीश पूरी के दो बड़े भाई थे 1 बड़ी बहन थी 1 छोटा भाई था। उनके बड़े भाई, मदन पुरी और चमन पुरी भी अभिनेता थे। 

अमरीश पूरी के कुछ प्रश्न –

1 .अमरीश पूरी की पत्नी का नाम क्या था ?

उनकी पत्नी का नाम उर्मिला दिवेकर था 

2 .अमरीश पूरी के बेटे का क्या नाम था ?

 अमरीश पूरी के बेटे का नाम राजीव था 

3 .अमरीश पूरी की बेटी का क्या नाम था ?

अमरीश पूरी की बेटी का नाम नम्रता था 

5 .अमरीश पुरी का नेट वर्थ क्या है?

अमरीश पुरी का नेट वर्थ $20 million था । 

6 .अमरीश पुरी का भाई कौन है?

उनके भाई के नाम चमन पुरी, मदन पुरी और हरीश पुरी है। 

7 .अमरीश पुरी की मौत कैसे हुई?

 अमरीश पुरी की मौत ब्रेन हेमरेज से हुई थी।

8 .ओम पुरी और अमरीश पुरी के बीच क्या रिश्ता है?

ओम पुरी से अमरीश पुरी का कोई लेना देना नहीं है। 

9 .अमरीश पुरी आखिरी फिल्म कौन सी है?

उनके जीवन की अंतिम फिल्‍म ‘किसना’ थी। 

10 .किस उम्र में अमरीश पुरी का निधन हुआ?

अमरीश पुरी का 12 जनवरी 2005 को 72 वर्ष के उम्र में ब्रेन ट्यूमर की वजह से उनका निधन हो गया।

इसे भी पढ़े :- भामाशाह की जीवनी

Conclusion –

दोस्तों उम्मीद करता हु आपको मेरा यह आर्टिकल Amrish Puri Biography बहुत पसंद आया होगा। इस आर्टिकल के जरिये हमने amrish puri family और amrish puri son से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी दे दी है अगर आपको इस तरह के अन्य व्यक्ति के जीवन परिचय के बारे में जानना चाहते है तो आप हमें कमेंट करके जरूर बता सकते है। और हमारे इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शयेर जरूर करे। धन्यवाद।

Leave a Reply

error: Sorry Bro
%d bloggers like this: